अपनी बात

क्या धीरेन्द्र शास्त्री शैतानी काम करता है? 

तुम्हें तुम्हारा धर्म मुबारक, मुझे मेरा धर्म. नफरत, हिंसा, ख़ून ख़राबा, अशांति और घृणा सिर्फ एक शैतान ही कर सकता है. इंसान बनो, शैतान...

पीएफआई के अलावा अन्य साम्प्रदायिक दलों पर बैन क्यूं नहीं?

अब कोई कुछ भी कहे मुसलमानों के दिल में तो यही है कि यह इकतरफा फैसला है और आरएसएस जैसे कई हिन्दू संगठनों पर बैन क्यूं नहीं लगाया गया...

पाक में दफन होती हिंदू-बौद्ध संस्कृति: भारत के प्रति शत्रुभाव...

पाकिस्तान में गैर-इस्लामी प्रतीकों और शेष हिंदू-सिखों की दुर्गति इसलिए है क्योंकि वहां का ‘ईको-सिस्टम’ बहुलतावाद और पंथनिरपेक्षता...